DELHI /NCR NEWS

Delhi News: दिल्ली की इन जगहों पर मानसून के दौरान हर बार होता है जलभराव, ट्रैफिक पुलिस ने ऐस जगहों को किया चिन्हित

दिल्ली की इन जगहों पर मानसून के दौरान हर बार होता है जलभराव, ट्रैफिक पुलिस ने ऐस जगहों को किया चिन्हित
दिल्ली की इन जगहों पर मानसून के दौरान हर बार होता है जलभराव, ट्रैफिक पुलिस ने ऐस जगहों को किया चिन्हित
28views

दिल्ली में मॉनसून में जलभराव को लेकर प्रशासन ने अभी से अपनी तैयारी करनी शुरू कर दी है. ट्रैफिक पुलिस ने दिल्ली में जलभराव वाली 211 जगहों को भी चिन्हित किया है.

जून महीने के आखिर तक राजधानी दिल्ली (Delhi) में मॉनसून (Monsoon) को लेकर गतिविधियां शुरू हो सकती है और मॉनसून के दौरान दिल्ली और एनसीआर में जो सबसे बड़ी समस्या देखने को मिलती है वह जलभराव की है. जब बारिश के बाद जगह-जगह सड़कें हो या फिर गलियां तालाब बन जाती हैं. ऐसे में इस मानसून से पहले जलभराव की समस्या को लेकर भी प्रशासन कई तैयारियों में लगा हुआ है, दिल्ली ट्रैफिक पुलिस की ओर से दिल्ली में कुछ ऐसी जगहों की पहचान की गई है जहां पर बारिश के बाद भारी जलभराव देखने को मिलता है.

ट्रैफिक पुलिस जलभराव वाली जगहों को किया चिन्हित
ट्रैफिक पुलिस ने दिल्ली में जलभराव वाली 211 जगहों की पहचान की है. यहां पर बारिश के बाद जलभराव होता है लेकिन इसमें से 10 ऐसी जगह हैं जिसमें की मॉनसून में तमाम इंतजाम के बाद भी बार-बार जलभराव की समस्या देखने को मिलती है और जलभराव के बाद इन जगहों पर घंटों ट्रैफिक जैम या कई हादसे भी हो जाते हैं. जिसमें पुल प्रहलादपुर अंडरपास, जखीरा अंडरपास, मिंटो ब्रिज, लोनी रोड गोल चक्कर, जहांगीरपुरी मेट्रो स्टेशन आदि जगह शामिल है. दिल्ली ट्रैफिक पुलिस की ओर से जलभराव वाली जगह में पांच ऐसी जगह हैं जहां पर जलभराव की भारी समस्या देखने को मिलती है हाल ही में साउथईस्ट जिले के पुल प्रहलादपुर अंडरपास के नीचे प्री मानसून बारिश के दौरान एक व्यक्ति की डूबकर मौत भी हो गई.

जलभराव से बचने के लिए किए जा रहे हैं इंतजाम
हालांकि स्थानीय विधायक का कहना है कि यहां पर बारिश के बाद होने वाले जलभराव की समस्या से निजात पाने के लिए अतिरिक्त संप वेल लगाए जा रहे हैं. उनका कहना है कि यहां पर पहले से ही 8 बड़े मोटर पंप लगे हुए हैं लेकिन आसपास के सभी बड़े नाले बारिश के दौरान फुल जाने के कारण और अंडर पास ढलान पर होने के कारण यहां पर जलभराव हो जाता है. लेकिन अब नए संप वेल लगाई जा रही हैं जिसका काम 15 जून तक पूरा हो जाएगा. स्थानीय विधायक के सहीराम पहलवान ने बताया है कि प्रहलादपुर अंडरपास के नीचे जो 8 मोटर पंप लगे हुए हैं. उनकी क्षमता 450 हॉर्स पावर से बढ़ाकर 850 हॉर्स पावर कर दी गई है. इसके अलावा 8 और मोटर पंप लगाए जा रहे हैं जिसके बाद यहां पर बिल्कुल भी जलभराव की समस्या देखने को नहीं मिलेगी.

इसके साथ ही दिल्ली के कनॉट प्लेस स्थित मिंटो ब्रिज भी एक ऐसा देश है जहां पर हर साल मॉनसून के दौरान भारी जलभराव देखने को मिलता है इसके लिए भी यहां पर इस मानसून से पहले का इंतजाम किए जा रहे हैं. प्रशासन का कहना है कि बरसाती पानी की निकासी के लिए 200 मीटर लंबा 5 ड्रेन बनाया जा रहा है. जिसका कनेक्शन सिंचाई विभाग के ट्रेन से किया जाएगा, जिसके बाद इस मॉनसून मिंटो ब्रिज के नीचे भी जलभराव की समस्या देखने को नहीं मिलेगी.