Politics

Agnipath Scheme Protest: ‘प्रोटेस्ट के चलते फंसे यात्रियों को भोजन-पानी उपलब्ध कराएं’, रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव का अधिकारियों को निर्देश

Agnipath Scheme Protest: 'प्रोटेस्ट के चलते फंसे यात्रियों को भोजन-पानी उपलब्ध कराएं', रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव का अधिकारियों को निर्देश
Agnipath Scheme Protest: 'प्रोटेस्ट के चलते फंसे यात्रियों को भोजन-पानी उपलब्ध कराएं', रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव का अधिकारियों को निर्देश
13views

Agnipath Scheme Row: रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने रेलवे अधिकारियों को निर्देश दिया है कि प्रदर्शन के कारण दिक्कत में फंसे हुए यात्रियों को रेलवे की ओर से भोजन और पानी उपलब्ध कराया जाए.

Agnipath Scheme Row: अग्निपथ योजना के विरोध में प्रदर्शन लगातार जारी है. विरोध प्रदर्शन के कारण ट्रेनों की आवाजाही भी प्रभावित हुई है. इसी को लेकर रेलमंत्री अश्विनी वैष्णव (Ashwini Vaishnav) ने सभी जीएम और डीआरएम को निर्देश दिया है कि जहां कहीं भी रेल यात्री ट्रेनों की अनियमितता के कारण दिक्कत में फंसे हुए दिखें तो उन्हें रेलवे (Railway) की ओर से भोजन और पानी उपलब्ध कराया जाए. गौरतलब है कि अग्निपथ योजना (Agnipath Scheme) के विरोध में हुए हिंसक प्रदर्शन (Protest) के दौरान कई ट्रेनों में आग भी लगाई गई है. इस प्रदर्शन में सबसे ज्यादा नुकसान रेलवे को ही हुआ है.

अग्निपथ योजना के विरोध में हो रहे प्रदर्शन को देखते हुए रेलवे ने शनिवार को भी 369 ट्रेन रद्द कर की हैं. अधिकारियों ने बताया कि जिन ट्रेनों को रद्द किया गया है उनमें 210 मेल एक्सप्रेस और 159 पैसेंजर ट्रेन शामिल हैं. दो मेल एक्सप्रेस को आंशिक रूप से रद्द किया है इसलिये रद्द होने वाली ट्रेनों की कुल संख्या 371 है. इसके साथ ही कई ट्रेनों के रूट्स में भी बदलाव किए गए हैं और कई ट्रेनों को रिशेड्यूल भी किया गया है. रेलवे की ओर से कैंसिल की गई ट्रेनों में मेल, पैसेंजर, एक्सप्रेस समेत कई गाड़ियां शामिल हैं. ट्रेनें रद्द होने की वजह से यात्रियों को काफी परेशानी हो रही है. बंगाल में कई विदेशी यात्री भी फंस गए थे.

हर रोज रद्द हो रही ट्रेनें

वहीं शुक्रवार को भी आंदोलन के चलते करीब 35 ट्रेनों को रद्द कर दिया गया था, जबकि 200 अन्य ट्रेनें अपने समय से कई घंटे की देरी से चल रही थी. इसके अलावा 13 ट्रेनों को शॉर्ट टर्मिनेट कर दिया गया था. बता दें कि, अग्नपिथ योजना के विरोध में प्रदर्शनकारियों ने सिकंदराबाद के तेलंगाना स्टेशन पर ट्रेनों में आग लगाई थी, जबकि भागलपुर-नई दिल्ली विक्रमशिला एक्सप्रेस और जम्मू तवी-गुवाहाटी एक्सप्रेस ट्रेनों में भी आग लगा दी थी. बिहार के लखीसराय में आंदोलनकारी छात्रों ने ट्रेन के प्लेटफार्म पर पहुंचते ही भागलपुर-नई दिल्ली विक्रमशिला एक्सप्रेस में आग लगा दी. 

रेल मंत्री ने पहले की थी अपील

इससे पहले केंद्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव (Ashwini Vaishnav) ने प्रदर्शनकारियों से अपील भी की थी. उन्होंने कहा था कि मेरा सभी से निवेदन है कि रेलवे आपकी और राष्ट्र की संपत्ति है. किसी भी तरह से हिंसक प्रदर्शन न करें और रेलवे (Railway) संपत्ति आपके सेवा के लिए है इसलिए इसे बिल्कुल नुकसान न पहुंचाएं.