BIHAR/JHARKHAND NEWSfeature

कांटे की टक्कर में फिर बहुमत से आगे निकला एनडीए, महागठबंधन पिछड़ा

कांटे की टक्कर
कांटे की टक्कर
477views

बिहार विधानसभा चुनाव 2020 के लिए वोटों की गिनती में कड़ी टक्कर देखी जा रही है. चुनाव आयोग के मुताबिक परिणाम देर रात तक आएंगे. शाम साढ़े 7 बजे तक करीब 80% वोटों की गिनती पूरी हो चुकी है. फिलहाल रुझानों में एनडीए आगे है.

बिहार विधानसभा चुनाव 2020 के लिए वोटों की गिनती जारी है. चुनाव आयोग के मुताबिक कोरोना संकट की वजह से वोटों की गिनती देर रात तक चलेगी. शाम 7 बजे तक करीब 75 फीसदी वोटों की गिनती पूरी हो चुकी है. शाम 7 बजे तक एनडीए और महागठबंधन के बीच महामुकाबला देखा जा रहा है. अंतिम नतीजों के लिए देर रात तक इंतजार करना पड़ सकता है. तभी तय होगा कि बिहार का अगला बिग बॉस कौन बनेगा?

अब 50 लाख वोटों की गिनती बाकी
रात साढ़े 8 बजे तक केवल 50 लाख वोटों की गिनती बाकी रही है. वहीं कांटे की टक्कर के बीच एनडीएन एक बार फिर बढ़त बना ली है. रात 8.40 बजे एनडीए 125 सीटों पर और महागठबंधन 111 सीटों पर आगे है.

हसनपुर सीट पर आरजेडी नेता तेज प्रताप यादव ने जीत दर्ज की. तेज प्रताप यादव ने कहा कि बिहार में हमारी ही सरकार बनेगी. इस बीच आरजेडी नेता मनोज झा ने नीतीश प्रशासन पर वोटों की गिनती प्रभावित करने का आरोप लगाया है. 

शाम 7 बजे तक 75 फीसदी वोटों की गिनती पूरी

शाम 7 बजे तक करीब 75 फीसदी वोटों की गिनती पूरी हो चुकी है. शाम 7 बजे तक एनडीए और महागठबंधन के बीच महामुकाबला देखा जा रहा है. इस बीच नीतीश कुमार से मिलने के लिए सुशील मोदी और भूपेंद्र यादव पहुंचे हैं. वहीं सूत्रों के मानें तो देश के गृह मंत्री अमित शाह ने नीतीश कुमार से फोन पर बात की है.  

चुनाव आयोग के आंकड़ों के मुताबिक शाम 6 बजे तक 3 सीटों पर 200 वोटों का अंतर, 9 सीटों पर 500 वोटों का अंतर, 17 सीटों पर 1000 वोटों का अंतर,  33 सीटों पर 2000 वोटों का अंतर, 48 सीटों पर 3000 वोटों का अंतर और 68 सीटों पर 5000 वोटों का अंतर है. 

चुनाव आयोग के मुताबिक शाम साढ़े 6 बजे तक 3 करोड़ से ज्यादा वोटों की गिनती हुई. अभी देर रात तक गिनती चलेगी. शाम साढ़े 6 बजे तक एनडीए की 123 सीटों पर बढ़त है. जबकि महागठबंधन 112 सीटों तक पहुंच गया है.

शाम 5 बजे तक के रुझानों के अनुसार, बिहार में एनडीए की सरकार बनती दिख रही है. एनडीए रुझानों में 126 सीटों के आसपास है और महागठबंधन 110 सीटों तक पहुंच गया है. जबकि अन्य के खाते में 10 सीटें आ रही हैं. अब कुछ सीटों पर फाइनल नतीजे आने शुरू हो हैं.
 
भारतीय जनता पार्टी बिहार में सीटों के हिसाब से सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभर रही है और 73 से अधिक सीटों पर आगे चल रही है. जबकि राजद दूसरे नंबर की पार्टी बनकर उभरी है, राजद अभी 70 सीटों पर बढ़त बनाए हुए है. महागठबंधन में कांग्रेस 20 सीटों पर आगे है, जबकि एनडीए में जदयू 50 सीटों के आसपास बढ़त बनाए हुए है.

देर रात तक आएंगे नतीजे: चुनाव आयोग
चुनाव आयोग के मुताबिक, इस बार बिहार विधानसभा चुनाव के नतीजे देर रात तक आएंगे. कोरोना संकट काल में कई सावधानियों के साथ वोटों की गिनती हो रही है, साथ ही काउंटिंग बूथ की संख्या भी करीब 50 फीसदी तक बढ़ी है. कई सीटें ऐसी हैं, जहां पर इस बार 19 से 51 राउंड तक वोटों की गिनती होनी है. दोपहर ढाई बजे तक करीब 1.34 करोड़ वोट गिने गए, जबकि तीन करोड़ से अधिक वोट गिने जाने बाकी हैं.

कहीं पर जश्न, कहीं हो रहा इंतजार
बिहार में रुझानों में बाजी लगातार पलट रही है, शुरू में महागठबंधन बढ़त बनाए हुए था तो वहीं अब एनडीए आगे चल रहा है. ऐसे में समर्थकों के जश्न पर भी असर पड़ रहा है. दोपहर को एनडीए समर्थकों ने ढोल बजाने शुरू किए, लेकिन चुनाव आयोग ने जब कहा कि अंतिम नतीजे रात तक आएंगे. तो दोनों गठबंधन की ओर से अब सावधानी बरती जा रही है.

बिहार के दिल में का बा?
कोरोना काल में यह देश का पहला चुनाव है. हिंदी पट्टी के लिए आम चुनावों और उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के बाद बिहार तीसरा सबसे अहम चुनाव माना जाता है. इसीलिए हिम्मत और दुस्साहस के बीच बड़ी संख्या में लोग निकले, रैलियां हुईं और वोट पड़े. अब समय मतगणना का है. यह देखने का है कि बिहार के दिल में का बा.
 
बिहार में महागठबंधन बनाम एनडीए की कांटेदार जंग देखने को मिली. आज का जनादेश बिहार में पिछले 15 साल की नीतीश कुमार सरकार पर लोगों का फैसला तो होगा ही, बिहार की राजनीति के लिए भी एक खास संदेश लेकर आएगा क्योंकि बिहार में राजनीति के एक ढलती पीढ़ी को नई पीढ़ी ने सीधी चुनौती दी है और जनता को नए-पुराने के बीच अपना आगे का भविष्य चुनना है.
 
नीतीश कुमार को 31 साल के युवा तेजस्वी यादव सीधी टक्कर दे रहे हैं. तमाम एक्जिट पोल के रुझान बदलाव के संकेत दे रहे हैं. राज्य की कुल 243 विधानसभा सीटों पर इस बार तीन चरणों में हुए मतदान की मंगलवार को हो रही गिनती इस बदलाव के संकेतों का अंतिम सच सामने लाने वाली है.