DELHI /NCR NEWS

जी-7 शिखर सम्मेलन के लिए पीएम मोदी को यूके से न्यौता, समिट से पहले भारत आ सकते हैं बोरिस जॉनसन

जी-7 शिखर सम्मेलन के लिए पीएम मोदी को यूके से न्यौता, समिट से पहले भारत आ सकते हैं बोरिस जॉनसन
जी-7 शिखर सम्मेलन के लिए पीएम मोदी को यूके से न्यौता, समिट से पहले भारत आ सकते हैं बोरिस जॉनसन
364views

ब्रिटिश उच्चायोग की तरफ से जारी एक प्रेस रिलीज के मुताबिक, जी-7 शिखर सम्मेलन से पहले ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन भारत आ सकते हैं. वैक्सीन उत्पादन को लेकर ब्रिटेन ने भारत की तारीफी की.

यूनाइटेड किंगडम (यूके) ने जी-7 शिखर सम्मेलन के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अतिथि के रूप में आमंत्रित किया है. यह बैठक कॉर्नवल में 11 से 14 जून, 2021 तक होने वाली है. रविवार को ब्रिटिश उच्चायोग की तरफ से जारी एक प्रेस रिलीज में इस बात की जानकारी दी गई. इसमें ये भी कहा गया है कि ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन जी-7 शिखर सम्मेलन से पहले भारत का दौरा कर सकते हैं.

ब्रिटेन ने भारत को ‘दुनिया की फार्मेसी’ करार देते हुए कोरोना वायरस वैक्सीन के उत्पादन में इसके प्रयासों की सराहना की. इसके साथ ही कहा, “भारत पहले से ही दुनिया के 50 फीसदी से अधिक वैक्सीन की आपूर्ति करता है. यूके और भारत ने महामारी के दौरान एक साथ करीब से काम किया है.”

प्रेस रिलीज के मुताबिक, इस साल ब्रिटेन ने ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण कोरिया के नेताओं को भी आमंत्रित किया है ताकि वे विशेषज्ञता और अनुभव को गहरा करने के लिए अतिथि देशों के रूप में भाग लें.

बोरिश जॉनसन ने कहा, “कोरोनो वायरस बेशक सबसे विनाशकारी शक्ति है जिसे हमने देखा है और आधुनिक दुनिया की सबसे बड़ी परीक्षा है जिसे हमने अनुभव किया है. हम खुलेपन की भावना के साथ एकजुट होकर बेहतर निर्माण की चुनौती का सामना करें, केवल यही सही होगा.”

बता दें कि जून में ये समिट में साझा चुनौतियों पर चर्चो होगी. इसमें कोरोना वायरस से लेकर जलवायु परिवर्तन और यह सुनिश्चित करने के लिए कि हर जगह के लोग खुले व्यापार, तकनीकी परिवर्तन और वैज्ञानिक खोज से लाभान्वित हों, जैसे विषय शामिल हैं. जी-7 यूके, कनाडा, फ्रांस, जर्मनी, इटली, जापान, यूएसए और ईयू का समूह है.