BREAKING NEWS
Welcometimes

Welcometimes

लंदन: भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच आईसीसी क्रिकेट विश्व कप 2019 का 14वें मुकाबले पर सबकी नजरें टिकी हुई हैं. ये इस विश्व कप में भारत का दूसरा मुकाबला होगा जबकि ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम का ये तीसरा मुकाबला होगा. इससे पहले जहां विराट कोहली की अगुवाई वाली भारतीय टीम ने पांच जून को अपना पहला मैच दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ जीता था.

 

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच विश्व कप से पहले हुई थीं दो सीरीज

 

 

 

वहीं ऑस्ट्रेलियाई टीम ने अपना पहला मैच अफगानिस्तान के खिलाफ जीता जबकि दूसरे मुकाबले में उन्होंने रोमांचक अंदाज में उतार-चढ़ाव के बीच वेस्टइंडीज क्रिकेट टीम को मात दी. भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच विश्व कप से ठीक पहले दो वनडे सीरीज खेली गई थीं. पहले भारतीय टीम ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ उन्हीं की जमीन पर वनडे सीरीज जीतकर इतिहास रचा. उसके बाद जब ऑस्ट्रेलियाई टीम भारत दौरे पर आई तो उसने भारतीय क्रिकेट टीम को भी उनके घर में वनडे सीरीज में मात देकर हिसाब बराबर कर लिया.

 

 

 

दोनों टीमें अब मजबूत नजर आ रही हैं. ये मुकाबला लंदन के केनिंगटन ओवल मैदान में खेला जाएगा. भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच होने वाले इस विश्व कप 2019 के मैच की शुरुआत भारतीय समय के मुताबिक दोपहर 3 बजे से होगी.

 

भारत ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 3 तेज गेंदबाजों के साथ उतर सकता है- पोंटिंग


दिग्गज क्रिकेटर रिकी पोंटिंग ने कहा कि वेस्टइंडीज के खिलाफ ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों को तेज गेंदबाजों से हुई परेशानी को देखते हुए भारत विश्व कप मुकाबले में इस टीम के खिलाफ तीन तेज गेंदबाजों के साथ उतर सकता है. ओशेन थॉमस, शेलडन कोट्रेल और आंद्रे रसेल की वेस्टइंडीज की तेज गेंदबाजों की तिकड़ी ने अपनी तेज और शॉर्ट गेंदबाजी से ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों को काफी परेशान किया था. पांच बार की चैम्पियन टीम एक समय 38 रन पर चार विकेट गंवाकर संघर्ष कर रही थी.



ऑस्ट्रेलिया के सहायक कोच और कप्तान के तौर पर दो बार विश्व कप का खिताब जीतने वाले पोंटिंग ने कहा, ‘‘ हम सब जानते है कि जसप्रीत बुमराह नयी गेंद के अच्छे गेंदबाज है और मैं इस बात को लेकर आश्वस्त हूं कि वह शॉट और फुल लेंथ गेंद का अच्छा मिश्रण करते है. उन्होंने कहा कि अगर टीम तीन तेज गेंदबाजों के साथ उतरती है तो केदार जाधव दूसरे स्पिनर की भूमिका निभा सकते हैं.’’

कोलंबो: मालदीव दौरे के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज श्रीलंका पहुंचे हैं. पीएम मोदी यहां श्रीलंकाई राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना से मुलाकात करेंगे. पीएम मोदी सिर्फ कुछ घंटों के लिए ही यहां रुकेंगे. बड़ी बात यह है कि श्रीलंका में ईस्टर के मौके पर हुए सिलसिलेवार बम धमाकों के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस देश का दौरा करने वाले पहले विदेशी नेता हैं.

 

आतंक से निपटने में श्रीलंका की पूरी मदद करेगा भारत 

 

 

 

इस दौरे के बारे में भारतीय विदेश मंत्रालय ने कहा कि मोदी का यह दौरा श्रीलंका सरकार को यह बताने के लिए है कि हम उनके साथ बराबरी से खड़े हैं. मंत्रालय ने कहा कि आतंकवाद से निपटने में भारत सरकार श्रीलंका की पूरी मदद करेगी. उल्लेखनीय है कि ईस्टर के दिन हुए बम धमाकों में 11 भारतीय समेत 258 लोगों की जान चली गई थी.

 

 

 

 

पीएम मोदी का यह तीसरा श्रीलंकाई दौरा

 

पीएम मोदी का यह तीसरा श्रीलंकाई दौरा है. इससे पहले वे 2015 और 2017 में भी श्रीलंका दौरे पर जा चुके हैं. मंत्रालय ने कहा कि आतंकवाद से निपटने में भारत सरकार श्रीलंका की पूरी मदद करेगा. वहीं, कल मालदीव की संसद से पीएम मोदी ने पाकिस्तान पर प्रहार किया और कहा कि आतंकियों को धन और हथियार देने वालों पर कार्रवाई हो.

पीएम मोदी ने मालदीव की संसद (पीपल्स मजलिस) को संबोधित करते हुए आतंकवाद को लेकर पाकिस्तान और चीन का नाम न लेते हुए निशाना साधा. इसके बाद पीएम दो दिवसीय विदेश दौरे के अंतिम दिन आज श्रीलंका पहुंचेंगे. वहीं, तीसरी बार वर्ल्ड कप कब्जाने के अभियान में भारतीय टीम लंदन में रविवार को जब ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मैदान में उतरेगी.

 

पीएम मोदी ने मालदीव की संसद (पीपल्स मजलिस) को संबोधित करते हुए आतंकवाद को लेकर पाकिस्तान और चीन का नाम न लेते हुए निशाना साधा. इसके बाद पीएम दो दिवसीय विदेश दौरे के अंतिम दिन आज श्रीलंका पहुंचेंगे. वहीं, तीसरी बार वर्ल्ड कप कब्जाने के अभियान में भारतीय टीम लंदन में रविवार को जब ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मैदान में उतरेगी.

 

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को मालदीव की संसद (पीपल्स मजलिस) को संबोधित किया. आतंकवाद को लेकर पीएम मोदी ने पाकिस्तान और चीन का नाम न लेते हुए निशाना साधा. मौजूदा समय में आतंकवाद को सबसे बड़ी चुनौती बताते हुए पीएम मोदी ने कहा कि यह हर किसी के लिए खतरा बना हुआ है.

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने दो दिवसीय विदेश दौरे के अंतिम दिन आज श्रीलंका पहुंचेंगे. रविवार सुबह करीब 11 बजे पीएम मोदी यहां पहुंचेंगे. पीएम मोदी ईस्टर के दौरान श्रीलंका में हुए बम विस्फोट के बाद यहां पहुंचने वाले पहले विदेशी राष्ट्राध्यक्ष है. पीएम मोदी के इस यात्रा के दौरान भारत और श्रीलंका के बीच आतंकवाद, निवेश समेत कुई मुद्दों पर चर्चा हो सकती है. 

 

तीसरी बार वर्ल्ड कप कब्जाने के अभियान में भारतीय टीम लंदन में रविवार को जब ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मैदान में उतरेगी तो उसकी नजर न सिर्फ कंगारुओं को धूल चटाने पर होगी बल्कि उस वर्ल्ड रिकॉर्ड पर भी रहेगी जिसे हासिल करने के लिए 5 बार की चैंपियन टीम के खिलाफ हर हाल में एक शतक लगाना ही होगा. 

 

उत्तर प्रदेश के पूर्व सीएम अखिलेश यादव शनिवार को बाराबंकी पहुंचे और रानीगंज गांव में जहरीली शराब काण्ड के पीड़ित परिवारों से मुलाकात की. रानीगंज से लौटते वक्त अखिलेश अलग अवतार में दिखे. वे महादेवा मंदिर गए और भगवान शिव की आरती और पूजा अर्चना की. अखिलेश ने बाराबंकी यात्रा के दौरान गर्मा गर्म भुट्टे का भी आनंद लिया.

 

मुंबई के विखरोली में बेहद दर्दनाक हादसा हुआ. एक बार फिर मुंबई में फुटपाथ पर सोना लोगों के लिए मौत बन गया. शनिवार रात को एक टैंकर अनियंत्रित होकर फुटपाथ पर सो रहे लोगों पर चढ़ गया. इस हादसे में दो महिलाओं की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि इस हादसे में कई लोग घायल भी हो गए.

अलीगढ़ के टप्पल में मासूम बच्ची का अपहरण कर उसकी हत्या के बाद लोगों आक्रोश फूट पड़ा है. लोग सड़कों पर उतर कर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं और बच्ची के लिए इंसाफ की मांग कर रहे हैं. टप्पल में हालत कहीं बेकाबू न हो जाएं, इसे देखते हुए रविवार को दूसरे दिन भी सुरक्षा बलों ने फ्लैग मार्च किया. टप्पल में 30 मई को एक ढाई साल की बच्ची गायब हुई थी. 2 जून को उसका क्षत-विक्षत शव घर से 100 मीटर दूर मिला. बच्ची के पिता ने पहले ही दिन हत्या का शक मुहल्ले के जाहिद पर जताया था.

 

ढाई साल की इस बच्ची को इंसाफ दिलाने के लिए पूरा देश उठ खड़ा हुआ है. कहीं कैंडल मार्च निकाला जा रहा है तो कहीं पुलता फूंका जा रहा है. कहीं लोग अनशन पर बैठे हैं तो कहीं प्रतीकात्मक फांसी लगाकर लोग अपना गुस्सा जाहिर कर रहे हैं. किसी को यकीन नहीं हो रहा है कि आखिर ढाई साल की मासूम बच्ची को कोई गला दबाकर मार कैसे सकता है. हर तरफ आक्रोश है, हर तरफ गुस्सा है.

रौंगटे खड़े करने देने वाली वारदात के खिलाफ अलीगढ़ में हिंदू महासभा के लोग भी सड़कों पर उतरे और मुस्लिम समाज भी. अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के छात्रों ने भी आरोपियों को सूली पर चढ़ाने की मांग की. मध्य प्रदेश के राजगढ़ में मुस्लिम समाज ने दरिंदों का पुतला फूंक कर अपना गुस्सा जताया. यूपी के लखीमपुर में लोग इंसाफ की मांग पर अन्न त्याग कर धरने पर बैठ गए. 

 

 

टप्पल की मासूम की हत्या मामले में जांच जैसे-जैसे आगे बढ़ रही है, सन्न कर देने वाले खुलासे भी सामने आ रहे हैं. पुलिस ने आजतक को बताया कि ढाई साल की बेटी को कितनी बर्बरता से मारा गया. बच्ची की सांसें गला दबाकर रोकी गई. इस वीभत्स हत्याकांड को आरोपी असलम के घर अंजाम दिया गया. शक है कि लाश को जाहिद के दुपट्टा से लपेट कर फ्रीज में छुपाया गया ताकि बदबू न आए.

इस घटना के बाद पूरे टप्पल में सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई है. एसपी (ग्रामीण) मणिलाल पाटीदार ने एएनआई से कहा, 'पुलिस के आश्वासन के बाद लोगों ने महापंचायत टाल दी है. इलाके में कानून व्यवस्था बनी रहे, इसके लिए सुरक्षा बलों की तैनाती की गई है.' पुलिस ने इस हत्याकांड में अब तक मुख्य आरोपी जाहिद, उसके भाई मेहंदी, जाहिद की बीवी और जाहिद के दोस्त को दबोच लिया है जबकि गुनाह की एक और राजदार मेहंदी की पत्नी फरार है. एसआईटी जांच के बाद अब मामले की मजिस्ट्रेट से भी जांच कराई जा रही है.

 

 

दरिंदगी की सारी हदें पार कर देने वाली इस वारदात को लेकर अब वकीलों से मोर्चा खोल दिया. अलीगढ़ बार एसोसिएशन ने आरोपियों की तरफ से केस न लड़ने का फैसला किया है. दूसरी ओर हत्या के दो आरोपियों के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (रासुका) के तहत मामला दर्ज कर मामले को फास्ट ट्रैक कोर्ट में स्थानांतरित करवाने का फैसला लिया है. सरकार के एक प्रवक्ता ने कहा कि यह निर्णय योगी आदित्यनाथ की सरकार की ओर से लिया गया है. वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अलीगढ़ आकाश कुलहरि ने कहा, "हम इसे राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (रासुका) के मामले के रूप में आगे बढ़ा रहे हैं, हम इसे एक फास्ट ट्रैक कोर्ट में लाने की कोशिश करेंगे. पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में दुष्कर्म या एसिड हमले का जिक्र नहीं है. इस मामले में पांच पुलिस कर्मियों को निलंबित कर दिया गया है."

करीब डेढ़ माह तक चली लोकसभा चुनाव की थकान भरी कवायद का परिणाम आने से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज केदारनाथ पहुंचे और उन्होंने रूद्राभिषेक कर शिव की आराधना की. प्रधानमंत्री हेलीकॉप्टर से उतरने पर स्लेटी रंग के पहाड़ी परिधान और पहाड़ी टोपी पहने और कमर में केसरिया गमछा बांधे दिखाई दिए. हेलीपैड से मंदिर पहुंचने के पैदल रास्ते के दोनों ओर मौजूद श्रद्धालुओं और स्थानीय जनता का उन्होंने हाथ हिलाकर अभिवादन किया.

 

मंदिर परिसर में पहुंचने पर केदारनाथ के तीर्थ पुरोहितों ने उनका स्वागत किया, जिसके बाद वह भगवान शिव की पूजा अर्चना और रूद्राभिषेक के लिये मंदिर के गर्भगृह में पहुंचे . करीब आधे घंटे चली इस पूजा के बाद प्रधानमंत्री ने मंदिर की परिक्रमा की और श्रद्धालुओं का फिर हाथ हिलाकर अभिवादन किया.

 

 

 

केदारनाथ में प्रधानमंत्री का ध्यान करने का भी कार्यक्रम है. मोदी रविवार को बद्रीनाथ जायेंगे. प्रदेश के पुलिस महानिदेशक (कानून और व्यवस्था) अशोक कुमार ने बताया कि प्रधानमंत्री की सुरक्षा के मद्देनजर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गयी है.

 

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट ने बताया कि मोदी के आगमन से उत्तराखंड की जनता और बीजेपी बहुत उत्साहित है. प्रधानमंत्री के इस दौरे का मकसद पूरी तरह से आध्यात्मिक है. इससे पहले, प्रधानमंत्री मोदी अपने दो दिवसीय उत्तराखंड प्रवास पर यहां के निकट जौलीग्रांट हवाई अड्डे पहुंचे जहां उत्तराखंड की राज्यपाल बेबी रानी मौर्य और मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने उनकी अगवानी की. प्रधानमंत्री का पिछले दो साल में केदारनाथ का यह चौथा दौरा है.

पटनाः राष्ट्रीय जनता दल के नेता और बिहार के पूर्व उप-मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने केंद्रीय मंत्री और बेगूसराय से बीजेपी के उम्मीदवार गिरिराज सिंह पर तीखा हमला बोला है. विरोधियों को पाकिस्तान भेजे जाने की बात को लेकर तेजस्वी यादव ने गिरिराज सिंह को आड़े हाथों लिया और कहा कि भारत किसी के बाप देश नहीं है.

 

तेजस्वी यादव ने कहा, ''गिरिराज सिंह कहते हैं कि सबको पाकिस्तान भेज देंगे. भारत किसी के बाप का देश नहीं है जो सबको पाकिस्तान भेज देंगे.'' ऐसा नहीं कि तेजस्वी यादव ने पहली बार गिरिराज सिंह पर हमला बोला है. इससे पहले तेजस्वी यादव उन्हें 'विषराज' और 'गिरगिटराज' भी कह चुके हैं.

 

 

 

हाल ही में एक रैली को संबोधित करते हुए तेजस्वी यादव ने कहा था, ''ऐई गिरगिटराज! जमींदारी के दिन लद गए पर तुम्हारी जमींदारी नहीं गई! तुम्हारे बाप का ज़मीन है ये? दलित, पिछड़ा, आदिवासी, अल्पसंख्यक को पाकिस्तान जाने कहता है! 90 के पहले वाला बंधुआ समझे हो? अरे हम मूलनिवासी हैं! तुम जाओ पाकिस्तान!''

 

बता दें कि गिरिराज सिंह भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के टिकट पर बेगूसराय लोकसभा सीट से चुनाव लड़ रहे हैं. यहां उनका मुकाबला सीपीआई के उम्मीदवार कन्हैया कुमार और आरजेडी के उम्मीदवार तनवीर हसन से है. यहां चौथे चरण में यानि 29 अप्रैल को वोट डाला जा चुका है. वोटों की गिनती 23 मई को होगी.

लोकसभा चुनाव 2019 की लड़ाई आखिरी चरण में पहुंचते ही दिलचस्प और कांटेदार हो गई है. बंगाल में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो में बवाल हुआ तो बीजेपी आक्रामक हो गई तो वहीं ममता बनर्जी ने भी पलटवार किया. इसी लड़ाई के बीच चुनाव आयोग ने बंगाल की नौ सीटों पर प्रचार के समय को 24 घंटे के लिए घटा दिया है. आज बंगाल में प्रचार का आखिरी दिन है इसलिए प्रचार पर जोर है.

 

Highlights
  • बंगाल में आर-पार की लड़ाई हुई तेज
  • चुनाव आयोग ने 24 घंटे कम किया प्रचार का समय
  • आज रात दस बजे तक हो सकेगा प्रचार
  • आज पीएम मोदी की दो रैलियां
  • ममता की तीन रैली और दो पदयात्रा
  • बंगाल की नौ सीटों पर होना है मतदान

 

 

 

 

बंगाल: आखिर कौन हैं वो ममता के दो अफसर जिनपर चुनाव आयोग ने की कार्रवाई?

लोकसभा चुनाव के आखिरी चरण के मतदान से पहले बंगाल में चुनावी लड़ाई जारी है. राजनीतिक हिंसा बढ़ते देख चुनाव आयोग ने बंगाल में प्रचार का समय कम कर दिया है तो वहीं ममता बनर्जी के करीबी अफसरों पर भी गाज गिरी है. अफसरों पर गाज गिरने के बाद ममता बनर्जी भड़क गईं और चुनाव आयोग को खूब खरी-खोटी सुनाई.
दरअसल, ममता बनर्जी चुनाव आयोग पर यूं ही नहीं भड़कीं. दरअसल, जिन अधिकारियों को हटाया गया या फिर शिफ्ट किया गया है, उनमें ममता बनर्जी के खास अफसर भी शामिल हैं. चुनाव आयोग ने बंगाल के प्रधान सचिव (गृह) अत्रि भट्टाचार्य को पद से हटाया. इसके साथ ही सीआईडी के ADG राजीव कुमार को भी उनके पद से हटाया गया.
 
 
 
 
कौन-कहां करेगा सभाएं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी - दो बंगाल (माथुरपुर, दमदम), तीन उत्तर प्रदेश (मऊ, चंदौली और मिर्जापुर).
ममता बनर्जी – माथुरपुर, डायमंड हार्बर, जोका (पदयात्रा), सुकांत सेतु (पदयात्रा)
महागठबंधन – वाराणसी 
अमित शाह – महाराजगंज, सिकंदरपुर, फेफना, देवरिया, गोरखपुर में रोड शो
योगी आदित्यनाथ – गाजीपुर, गोरखपुर

 

 

 

मोदी के गढ़ में महागठबंधन


19 मई को होने वाले आखिरी चरण के मतदान में वाराणसी में भी वोट डाले जाएंगे. इससे पहले आज बसपा प्रमुख मायावती और समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव वाराणसी में आज रैलियों को संबोधित करेंगे. वाराणसी से खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चुनाव लड़ रहे हैं, ऐसे में विपक्ष उन्हें घेरने पर जुटा है. बुधवार को ही कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने भी वाराणसी में रोड शो किया था. 

 

 

 

चुनाव आयोग ने लिया था एक्शन


आयोग ने बंगाल में गुरुवार रात 10 बजे से चुनाव प्रचार पर रोक लगा दी है. इसके अलावा आयोग ने  पश्चिम बंगाल के प्रधान सचिव (गृह) अत्रि भट्टाचार्य और सीआईडी के अतिरिक्त महानिदेशक राजीव कुमार को उनके पदों से हटाने का आदेश दिया है. उधर चुनाव आयोग के सख्त कार्रवाई पर ममता बनर्जी भड़क गई हैं. उन्होंने कहा कि बीजेपी के निर्देश पर चुनाव आयोग ने ये फैसला लिया है.
राजीव कुमार वही पुलिस अफसर हैं जो इसके पहले कोलकाता के पुलिस कमिश्नर थे और जिनके घर पर सीबीआई ने छापा मारा था. चुनाव आयोग ने उन्हें फौरन केंद्रीय गृहमंत्रालय में हाजिर होने को कहा है. आयोग ने सोशल मीडिया पर वीडियो डालने पर भी बैन लगा दिया है.

 

 

 

 

 

 

 

दिल्ली में मतदान से पहले आम आदमी पार्टी के नेता अरविंद केजरीवाल और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष शीला दीक्षित के बीच जमकर वार पलटवार चला. ट्विटर पर जारी इस जंग में कुमार विश्वास ने भी शीला दीक्षित के ट्वीट को कोट करते हुए केजरीवाल की चुटकी ली.

 

ट्विटर पर ट्वीट करते हुए शीला दीक्षित ने अरविंद केजरीवाल पर हमला किया और कहा, ''अरे भाई अरविंद केजरीवाल मेरी सेहत को ले कर क्यूं गलत अफवाहें फैला रहे हो? अगर कोई काम नहीं हो तो आ जाओ भोजन पर. मेरी सेहत भी देख लेना, भोजन भी कर लेना और अफवाहें फैलाए बिना चुनाव लड़ना भी सीख लेना.''

 

 

 

शीला दीक्षित के ट्वीट पर पलटवार करते हुए अरविंद केजरीवाल ने लिखा, ''मैंने आपकी सेहत पर कब कुछ बोला? कभी नहीं. मेरे परिवार ने मुझे बुजुर्गों की इज्जत करना सिखाया है. भगवान आपको अच्छी सेहत और लम्बी उम्र दे. जब आप अपने इलाज के लिए विदेश जा रहीं थीं तो मैं बिना बुलाए आपकी सेहत पूछने आपके घर आया था. बताइए आपके घर भोजन करने कब आऊं?''

 

 

 

 

केजरीवाल के इस ट्वीट के बाद कुमार विश्वास ने चुटकी ली और बिना नाम लिए अरविंद केजरीवाल पर करारा हमला बोला. उन्होंने कहा, ''बे तो तीन महीने से चक्कर लगा रए थे आपके दरवज्जे पै, आप नैई दरवज्जा नई खोला. हां नईं तो...'' कुमार विश्वास के ट्वीट के बाद शीला दीक्षित ने उन्हें जवाब दिया और कहा कि तुम तो सब को लाजवाब कर देते हो.

 

 

 

 

सोशल मीडिया पर यह ट्वीट चर्चा का विषय बन गया. लोगों ने जमकर केजरीवाल की खिंचाई की. कुछ लोगों ने ट्वीट को कोट करते हुए भी केजरीवाल को घेरा.

 

 

 

 

एडमिरल रामदास ने पीएम मोदी के दावे के बाद गुरुवार को एक प्रेस रिलीज जारी की, जिसमें उन्होंने कहा कि राजीव गांधी की लक्षद्वीप यात्रा आधिकारिक थी, वह पिकनिक पर नहीं थे. बुधवार को दिल्ली के रामलीला मैदान में एक जनसभा को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा था कि साल 1987 में छुट्टियां मनाने के लिए दिवंगत पीएम ने आईएएस विराट का निजी टैक्सी की तरह इस्तेमाल किया था.

 

 

पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की आईएनएस विराट पर पिकनिक के पीएम नरेंद्र मोदी के दावे को पूर्व एडमिरल एल रामदास समेत और पूर्व एडमिरल अरुण प्रकाश ने खारिज कर दिया है. आईएनएस विराट के तत्कालीन कमांडिग अफसर विनोद पसरीचा ने भी इस दावे को झूठा बताया है. एडमिरल रामदास ने पीएम मोदी के दावे के बाद गुरुवार को एक प्रेस रिलीज जारी की, जिसमें उन्होंने कहा कि राजीव गांधी की लक्षद्वीप यात्रा आधिकारिक थी, वह पिकनिक पर नहीं थे. बुधवार को दिल्ली के रामलीला मैदान में एक जनसभा को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा था कि साल 1987 में छुट्टियां मनाने के लिए दिवंगत पीएम ने आईएएस विराट का निजी टैक्सी की तरह इस्तेमाल किया था. वह अपने परिवार और सोनिया गांधी की फैमिली और सदस्यों के साथ 10 दिनों के लिए एक खास द्वीप पर छुट्टियां मनाने गए थे.   

 

क्या बोले एडमिरल रामदास

 

32 साल पुरानी इस घटना पर एडमिरल रामदास ने आईएनएस विराट के तत्कालीन कैप्टन और वाइस एडमिरल विनोद पसरीचा, आईएनएस विंध्यागिरी के कमांडिंग अफसर एडमिरल अरुण प्रकाश और आईएनएस विराट के साथ चल रहे आईएनएस गंगा के कमांडिंग अफसर वाइस एडमिरल मदनजीत सिंह के बयानों का भी हवाला दिया. उन्होंने कहा, राजीव गांधी पत्नी सोनिया गांधी के साथ त्रिवेंद्रम से लक्षद्वीप जाने के लिए आईएनएस विराट पर सवार हुए. वह त्रिवेंद्रम में नेशनल गेम्स प्राइज डिस्ट्रिब्यूशन के चीफ गेस्ट थे. उन्हें आइलैंड डिवेलपमेंट अथॉरिटी (आईडीए) के साथ मीटिंग की अध्यक्षता करने लक्षद्वीप जाना था.

पूर्व एडमिरल रामदास ने कहा कि उस समय सदर्न नेवल कमांड का कमांडिंग इन चीफ होने के कारण मैं भी आईएनएस विराट पर था. फ्लीट अभ्यास के लिए चार अन्य जहाज भी विराट के साथ थे. मैंने पीएम और उनकी पत्नी के लिए आईएनएस विराट पर डिनर भी आयोजित किया था. इसके अलावा विराट पर कोई अन्य पार्टी नहीं हुई न ही वहां कोई विदेशी शख्स था. एडमिरल रामदास ने आगे कहा, हालांकि राजीव गांधी और उनकी पत्नी हेलीकॉप्टर के जरिए स्थानीय लोगों से मिलने गए थे. लेकिन उनके साथ राहुल गांधी नहीं थे. अंतिम दिन बंगाराम द्वीप पर उनकी यात्रा के दौरान कुछ नेवल गोताखोरों को पीएम की सुरक्षा के लिए साथ भेजा गया था. ये सभी बैठकें दिसंबर 1987 में हुईं थीं. लेकिन गांधी परिवार के निजी इस्तेमाल के लिए किसी खास जहाज को नहीं भेजा गया था.  

 

भाषण में क्या बोला था मोदी ने

 

पीएम मोदी इन दिनों राजीव गांधी पर जमकर हमलावर हैं. भाषण में उन्होंने कहा था कि कांग्रेस के नामदार परिवार ने आईएनएस विराट का पर्सनल टैक्सी की तरह इस्तेमाल किया. तब राजीव गांधी पीएम थे और 10 दिनों के लिए छुट्टियां मनाने निकले थे. उनके लिए आईएनएस विराट को भेज दिया गया, जो उनके कुनबे को लेकर एक खास द्वीप पर ठहरा. छुट्टी मनाने वालों में इटली से आए राजीव गांधी के ससुराल वाले भी शामिल थे.

पीएम मोदी ने इस बारे में ट्वीट कर इंडिया टुडे की रिपोर्ट का हवाला भी दिया. इसमें कहा गया कि छुट्टी मनाने वालों में अमिताभ बच्चन, जया बच्चन और तीन बच्चे भी शामिल थे. उनके भाई अजिताभ की बेटी भी छुट्टी मनाने वालों में शामिल थीं. इसके अलावा प्रियंका और राहुल गांधी के 4 दोस्त, सोनिया गांधी की बहन, बहनोई और उनकी बेटी, सोनिया गांधी की मां, उनके भाई और मामा भी शामिल थे.

 

 

 

 

 

 

Page 1 of 5