BREAKING NEWS
कुरैशी बोले- लगातार आचार संहिता तोड़ रहे हैं PM, काफिले की तलाशी होनी चाहिए थी कुरैशी बोले- लगातार आचार संहिता तोड़ रहे हैं PM, काफिले की तलाशी होनी चाहिए थी कुरैशी बोले- लगातार आचार संहिता तोड़ रहे हैं PM, काफिले की तलाशी होनी चाहिए थी

कुरैशी बोले- लगातार आचार संहिता तोड़ रहे हैं PM, काफिले की तलाशी होनी चाहिए थी Featured

ओडिशा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हेलिकॉफ्टर की तलाशी लेने वाले आईएएस अधिकारी को निलंबित कर दिया गया था. इस पर पूर्व चुनाव आयुक्त डॉ. एसवाई कुरैशी ने कहा कि अफसर के खिलाफ कार्रवाई दुर्भाग्यपूर्ण है. हमने संवैधानिक संस्थाओं की छवि को सुधारने का मौका गंवा दिया.

 

 

ओडिशा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हेलिकॉफ्टर की तलाशी लेने वाले आईएएस अधिकारी को निलंबित कर दिया गया था. इस पर पूर्व चुनाव आयुक्त डॉ. एसवाई कुरैशी ने बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा कि अफसर के खिलाफ कार्रवाई दुर्भाग्यपूर्ण है. हमने संवैधानिक संस्थाओं की छवि को सुधारने का मौका गंवा दिया.

ट्विटर पर पूर्व चुनाव आयुक्त डॉ. एसवाई कुरैशी ने कहा कि ओडिशा में पीएम मोदी के हेलिकॉप्टर की तलाशी लेने वाले पर्यवेक्षक का निलंबन न केवल दुर्भाग्यपूर्ण है, बल्कि हमने चुनाव आयोग और प्रधानमंत्री जैसी संवैधानिक संस्थाओं की छवि को सुधारने का बढ़िया मौका भी गंवा दिया है. दोनों संस्थाओं की जनता के प्रति जवाबदेही है. पीएम मोदी लगातार चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन कर रहे हैं और चुनाव आयोग हर बार इसे नजर अंदाज कर रहा है.

 

 

डॉ. एसवाई कुरैशी ने कहा कि कानून सभी पर लागू होता है, चाहे वह प्रधानमंत्री हो या आम नागरिक. अगर हेलिकॉप्टर की तलाशी करने के मामले में कार्रवाई नहीं की जाती तो इससे चुनाव आयोग और प्रधानमंत्री जैसी संस्थाओं की जा रही निंदा रूक जाती, लेकिन दुर्भाग्यवश ऐसा नहीं हुआ. अब दोनों संस्थाओं की निंदा की जा रही है.

 
 

ओडिशा के सीएम नवीन पटनायक के हेलिकॉप्टर की तलाशी की घटना का जिक्र करते हुए डॉ. एसवाई कुरैशी ने कहा कि उनके (नवीन पटनायक) आंखों के सामने चुनाव आयोग की टीम ने हेलिकॉप्टर चेक किया. पटनायक ने इसके खिलाफ कोई प्रतिक्रिया देने की बजाय उन्होंने इसका सम्मान किया. वह असल में राजनेता हैं और हमें ऐसे ही राजनेताओं की जरूरत है.

 

 

बता दें, मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हेलिकॉप्टर की तलाशी लेने के मामले में चुनाव आयोग ने कर्नाटक कैडर के आईएएस अफसर मोहम्मद मोहसिन को निलंबित कर दिया था. इस मामले में पीएमओ ने दखल दिया था और चुनाव आयोग के अधिकारी इस मामले की जांच करने के लिए ओडिशा भी गए थे. पीएमओ के हस्तक्षेप के बाद उन्हें ड्यूटी से सस्पेंड कर दिया गया था.

चुनाव आयोग की इस कार्रवाई के बाद आयोग और प्रधानमंत्री की चौतरफा आलोचना शुरू हो गई थी. अब इस आलोचना करने वालों की लिस्ट में पूर्व चुनाव आयुक्त डॉ. एसवाई कुरैशी भी शामिल हो गए हैं.

 

 

 

Read 112 times Last modified on Sunday, 28 April 2019 07:06
Rate this item
(0 votes)

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.