Politics

Punjab CM Resignation: कांग्रेस जिसे चाहे सीएम बनाए लेकिन अगर सिद्धू को चेहरा बनाया तो विरोध करूंगा- अमरिंदर सिंह

Punjab CM Resigns: मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद अमरिंदर सिंह ने साफ तौर पर कहा कि उन्हें नवजोत सिंह सिद्धू बतौर सीएम बिल्कुल मंजूर नहीं हैं. वे विरोध करेंगे.
Punjab CM Resigns: मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद अमरिंदर सिंह ने साफ तौर पर कहा कि उन्हें नवजोत सिंह सिद्धू बतौर सीएम बिल्कुल मंजूर नहीं हैं. वे विरोध करेंगे.
52views

Punjab CM Resigns: पंजाब के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफे के बाद अमरिंदर सिंह ने नवजोत सिंह सिद्धू को लेकर अपने तेवर कड़े कर दिए हैं. उन्होंने साफ तौर पर कहा कि कांग्रेस पार्टी को जिसे सीएम बनाना है बनाए लेकिन अगर सिद्धू को चेहरा बनाया जाएगा तो वो इसका विरोध करेंगे. इसके साथ ही उन्होंने पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष सिद्धू पर निशाना साधते हुए उन्हें पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान और जनरल कमर जावेद बाजवा का ‘दोस्त‘ बताया.

नवजोत सिंह सिद्धू को ‘नकारा’ बताते हुए उन्होंने कहा, “उसने (सिद्धू) सात महीने तक अपनी फाइलें क्लीयर नहीं की. मैं किसी भी तरीके से सपोर्ट नहीं करूंगा. पाकिस्तान का प्राइम मिनिस्टर इसका दोस्त है. जनरल बाजवा के साथ इसकी दोस्ती है…रोज पाकिस्तान से ड्रोन्स आते हैं, कितने हथियार आए गए, कितने एक्सप्लोसिव आ गए, कितने ग्रेनेड्स आ गए, राइफल, एके47, एके57 सब कुछ आ जाता है…”

इसके साथ ही उन्होंने कहा, “अभी तक मेरी किसी से बात नहीं हुई है. ये कांग्रेस पार्टी का काम है, जिसको बनाना है चीफ मिनिस्टर उसको बनाएं लेकिन अगर सिद्धू को फेस बनाएंगे तो मैं विरोध करूंगा…सिद्धू बाजवा के साथ है, सिद्धू इमरान खान के साथ है. वो(नवजोत सिंह सिद्धू) मेरा मंत्री था और उसे निकालना पड़ा. 7 महीने तक अपनी फाइलें क्लियर नहीं की. क्या इस तरह का व्यक्ति जो एक विभाग नहीं संभाल सकता वो एक राज्य संभाल सकता है? निश्चित तौर पर मुख्यमंत्री बनना ही इसका (सिद्धू) लक्ष्य है.”

गौरतलब है कि आज अमरिंदर सिंह ने राजभवन जाकर राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित से मुलाकात कर अपना इस्तीफा सौंप दिया.  इस्तीफा देने के बाद राजभवन के बाहर उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘‘मेरा फैसला आज सुबह हो गया था. मैंने कांग्रेस अध्यक्ष से बात की थी और उनसे कह दिया था कि इस्तीफा दे रहा हूं.’’ अमरिंदर सिंह के अनुसार, ‘‘यह तीसरी बार हो रहा है. पहले विधायकों को बुलाया, दूसरी बार बुलाया और तीसरी बार बैठक कर रहे हैं. मैं अपमानित महसूस करता हूं. मेरे ऊपर अगर संदेह है तो ऐसे में मैंने फैसला किया कि मुख्यमंत्री पद छोड़ दिया जाए.’’ उन्होंने कहा कि कांग्रेस आलाकमान को जिस पर भरोसा हो, उसे मुख्यमंत्री बना सकता है.